कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पिछले 6 महीने से दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन पर बैठ हैं। इस आंदोलन का चेहरा बने भाकियू नेता का राकेश टिकैत का एक और चेहरा सामने आया है। इस चहरे में राकेश टिकैत और उसके पुत्र चरण सिंह भूमाफिया दिखते हैं।

राकेश टिकैट और उनके पुत्र पर मुजफ्फरनगर में एक किसान की लाखों की जमीन पर अवैध कब्जा करने, खेत में खड़ी फसल को तहस-नहस करने का आरोप लगा है। पीड़ित परिवार ने जिला प्रशासन के साथ-साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है और राकेश टिकैत के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

तीन बीघा जमीन पर कब्जा कर फसल बर्बाद किया: मामला मुजफ्फरनगर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र स्थित किनौनी गांव का है। यहां की निवासी सुशीला देवी और उनके बेटे विनीत बालियान का आरोप है कि उनकी 3 बीघा से ज्यादा जमीन रेलवे अधिग्रहण में आई थी। राकेश टिकैत और उनके बेटे चरण सिंह ने 30 मई की रात उनके खेत पर अवैध कब्जा करते हुए उसमें खड़ी फसल को बर्बाद करवा दिया।

पीड़ित परिवार का कहना है कि लगातार जिला प्रशासन से शिकायत के बाद भी अभी तक राकेश टिकैत और उनके बेटे पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है। इससे तंग आकर सुशीला देवी और विनीत बालियान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है। सुशीला देवी का कहना है कि राकेश टिकैत किसान नेता नहीं बल्कि बहुत बड़े भूमाफिया हैं. वह छोटे किसानों की जमीनों पर जबरन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *